Radha Krishna Aur Samay ke padchinh

Sale!

160.00


Back Cover

Description

हमेशा और हर परिस्थिति में दृढ़ रहने वाले कृष्ण को जीवन में प्रथम बार अपने नेत्रों में जल उमड़ने का अनुभव हुआ। वे उस चित्र की सजीव हो उठी राधा को देख ही रहे थे कि अचानक उनके पास एक हवा का गोल गोल घूमता हुआ बवंडर आया और उस वस्त्र को कृष्ण के हाथों की ढीली पकड़ से छुड़ा कर उड़ा ले गया।
कृष्ण कुछ देर तक उसे उड़ता हुआ देखते रहे और जब वह आँखों से ओझल हो गया तो वापस हो लिये।

Book Details

Weight 138 g
Dimensions 5.5 × 8.5 in
Language

Hindi

Pages

138

Edition

First

ISBN

9789390944873

Author

Ashok Sharma,

Dr Ashok Sharma

Publisher

Redgrab Books

Reviews

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Radha Krishna Aur Samay ke padchinh”

Your email address will not be published.